Tuesday, 1 November 2016

छत्तीसगढ़ की जनजातियाँ

छत्तीसगढ़ की जनजातियाँ


छत्तीसगढ़ की जनजातियां अपने विशिष्ट जीवन शैली, अपनी परंपरागत संस्कृति को अक्षुण बनाए रखने में सफल हुई है।  यद्यपि छत्तीसगढ़ में 42 जनजातियां पाई जाती है , परंतु छत्तीसगढ़ की प्रमुख जनजाति गोंड है, इसके अतिरिक्त कँवर, बिंझवार , भैना, भतरा, उरांव, मुंडा, कमार, हल्बा, बैगा, भरिया, नगेशिया, मंझवार, खारिया और धनवार जनजाति भी काफी संख्या में है।  अन्य जनजातियों की संख्या काफी काम है 

छत्तीसगढ़ राज्य में 5 विशेष पिछड़ी जनजातियों अबूझमाड़िया, कमार, पहाड़ी कोरबा, बिरहोर एवं बैगा के विकास के लिये विशेष अभिकरण का गठन किया गया है।


EmoticonEmoticon