Tuesday, 11 September 2018

छत्तीसगढ़ के खाते में नया कीर्तिमान, एक साथ मिले 15 राष्ट्रीय पुरस्कार

छत्तीसगढ़ के खाते में नया कीर्तिमान, एक साथ मिले 15 राष्ट्रीय पुरस्कार

New record in Chhattisgarh account, 15 national awards received

छत्तीसगढ़ ने फिर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। राज्य को आज विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के लिए 15 अलग-अलग पुरस्कार मिले हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने नई दिल्ली में इन 15 राष्ट्रीय पुरस्कारों को मिलने पर प्रसन्नता जताई की है। उन्होंने कहा कि यह राज्य के लिए एक गौरवशाली और नया कीर्तिमान है। डॉ. सिंह ने कहा कि गांव, गरीब और किसानों की बेहतरी से जुड़ी इन केंद्रीय योजनाओं में राज्य ने शानदार प्रदर्शन किया है। डॉ. सिंह ने इसके लिए प्रदेशवासियों सहित राज्य के पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री अजय चन्द्राकर और विभाग से सबंधित इन योजनाओं से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है। 
बता दें कि छत्तीसगढ़ को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले रूर्बन मिशन, प्रधानमंत्री (ग्रामीण) आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और मनरेगा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर इन राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया। केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कारों का वितरण किया। केंद्रीय मंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारियों ने राज्य के लिए इन पुरस्कारों को ग्रहण किया।

इस मौके पर तोमर ने इस बात पर खुशी जताई कि छत्तीसगढ़ आज देश में एक साथ सर्वाधिक 15 राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित होने वाला राज्य बना। इस अवसर पर केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामकृपाल यादव भी उपस्थित थे। समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री तोमर ने छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव आरपी मंडल, सचिव पीसी मिश्रा और संचालक पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान एमके त्यागी को ये पुरस्कार सौंपे। तोमर ने केन्द्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की प्रशंसा की और इन राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह तथा पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर सहित विभाग के सभी अधिकारियों और मैदानी अमले को बधाई दी।

पुरस्कार वितरण समारोह में छत्तीसगढ़ एनआरयूएम के स्टेट डायरेक्टर नीलेश क्षीरसागर, राज्य ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राकेश चतुर्वेदी, संचालक पंचायत जितेन्द्र शुक्ला, संचालक प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) अमृत विकास टोप्नो, जिला पंचायत रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी दीपक सोनी, जिला पंचायत जशपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा, कोण्डागांव और रायगढ़ जिला पंचायतों के सीईओ संजय कन्नौजे और चंदन त्रिपाठी सहित अन्य अनेक अधिकारी भी मौजूद थे।  

छत्तीसगढ़ पहुंचे केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, दी ये सौगातें

छत्तीसगढ़ पहुंचे केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, दी ये सौगातें

raipur-gadkari-the-union-minister-arrived-in-chhattisgarh

केन्द्रीय सड़क, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी सोमवार को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आए थे. इस दौरान उन्होंने कई सड़क परियोजनाओं के साथ ही फ्लाई ओवर की सौगात प्रदेश को दी है.

केन्द्रीय सड़क, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी सोमवार को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आए थे. इस दौरान उन्होंने कई सड़क परियोजनाओं के साथ ही फ्लाई ओवर की सौगात प्रदेश को दी है. इसके साथ ही आने वाले समय में 40 हजार करोड़ रुपए से अधिक की सड़क परियोजनाएं छत्तीसगढ़ के लिए लाने का वादा किया. भिलाई के चरौदा में विकास यात्रा के दूसरे चरण के दौरान देश के सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी पहुंचे थे.

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने रायपुर, भिलाई सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों में 4 हजार 239 करोड़ रुपए के सड़क निर्माण और फ्लाई ओवर का शिलान्यास और लोकार्पण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के साथ ही देश में सड़कों का जाल बिछाने के लिए नितिन गडकरी को धन्यवाद दिया. सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को अपने कार्यकाल में 35 हजार करोड़ रुपयों की सड़कों की सौगात दी है. जल्द ही 40 हजार करोड़ रुपए से अधिक के सड़कों और फ्लाई ओवर का जाल बिछा देने की बात कही.

नितिन गडकरी ने अपने विभाग में रुपयों की कोई कमी नहीं होने का दावा किया. साथ ही छत्तीसगढ़ के लिए मुख्यमंत्री ने जितनी भी मांगें रखी उनको पूरा करते हुए मजाकिया लहजे में पूछ लिया कुछ और भी सड़कों का प्रस्ताव हो ते बताएं. सड़कों की बात बस नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ में उगाए जाने वाले जेट्रोफा से जल्द ही हवाई जहाज भी उड़ाने और प्रदेश के किसानों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की बात नितिन गडकरी ने कही.

Monday, 3 September 2018

छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में उप निरीक्षक भर्ती 2018

छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में उप निरीक्षक भर्ती 2018


Sub Inspector Recruitment 2018 in Chhattisgarh Police Department

छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में सूबेदार उप निरीक्षक संवर्ग तथा पलाटून कमांडर के पदों की पूर्ति हेतु राज्य के स्थानीय निवासी पुरुष महिला उम्मीदवारों से छत्तीसगढ़ पुलिस की वेबसाइट http://www.cgpolice.gov.in पर दिनांक 24 मार्च 2018 से ऑनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाते हैं.
  • ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने की प्रारंभिक तिथि : 24/08/2018
  • ऑफलाइन आवेदन पत्र भरने की अंतिम तिथि : 16/09/2018
  • परीक्षा शुल्क : 
    • सामान्य वर्ग/ अन्य पिछड़ा वर्ग : 400
    • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति : 200


रिक्त पदों की संख्या तथा उनका वेतनमान - 
चयन हेतु रिक्त पदों की संख्या तथा उनका वेतनमान नीचे दर्शाए अनुसार है अंतिम चयन के समय वास्तविक रिक्त पदों की स्थिति को देखते हुए इस संख्या की कमी या वृद्धि की जा सकती है.

Sub Inspector Recruitment 2018 in Chhattisgarh Police Department

शैक्षणिक, आयु, शारीरिक एवं चयन प्रक्रिया हेतु निम्लिखित लिंक पे क्लिक करें। 

http://www.cgpolice.gov.in/public/uploads/1535022763.pdf


Tuesday, 28 August 2018

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्‍वाकांक्षी परियोजना है 'बायोफ्यूल'

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्‍वाकांक्षी परियोजना है 'बायोफ्यूल'

raipur-ambitious-biofuel-project-of-chhattisgarh-government

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी बायोफ्यूल परियोजना को पंख लग गए हैं। छत्तीसगढ़ की बाड़ी (खेत) से निकले बायो एविएशन फ्यूल से विमान ने देहरादून से दिल्ली तक उड़ान भरी। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने 2005 में नारा दिया था-डीजल नहीं अब खाड़ी से, डीजल मिलेगा बाड़ी से। 13 साल बाद यह नारा तब सार्थक हुआ जब बाड़ी के ईंधन से विमानन कंपनी स्पाइस जेट के टर्बो क्यू 400 विमान ने उड़ान भरी। देहरादून एयपोर्ट पर सोमवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विमान को हरी झंडी दिखाई। इसमें 25 फीसद जैव ईंधन और 75 फीसद सामान्य एविएशन फ्यूल का इस्तेमाल किया गया।

क्या है बायोफ्यूल
बायोफ्यूल जेट्रोपा (रतनजोत) के बीजों का उत्पाद है। जेट्रोपा यूफोर्बियेसी परिवार का सदस्य है और अमेरिकी मूल का है। स्थानीय भाषा में इसे बरगंडी भी कहते हैं। जेट्रोपा का पौधा तीन-चार मीटर ऊंचा होता है और प्रतिकूल मौसम और विपरीत जलवायु में भी फलता-फूलता है।

प्रतिदिन तीन टन उत्पादन
बायोफ्यूल अथारिटी ने राजधानी रायपुर के वीआइपी रोड में बायोफ्यूल का प्लांट में लगाया है। यहां प्रतिदिन तीन टन ऑयल का उत्पादन होता है। बिलासपुर, कवर्धा, मुंगेली, जांजगीर आदि जिलों में किसानों का सशक्त समूह गठित किया गया है। पेंड्रा समूह के पांच सौ किसानों ने वह बीज दिया जिससे विमान का ईंधन बना। सरकार किसानों से 13-14 रूपये प्रतिकिलो के दाम पर बीज खरीदती है। चार किलो बीज से एक किलो तेल निकलता है।

बायोफ्यूल की नई नीति पर चल रहा काम
केंद्र सरकार ने इसी साल चार जून को जैव ईंधन नीति 2018 घोषित की। 10 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व बायोफ्यूल दिवस पर इस नीति को राष्ट्र को समर्पित किया। भारत सरकार ने इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए वैज्ञानिकों की कमेटी बनाई है जिसमें छत्तीसगढ़ को भी शामिल किया है।

छत्तीसगढ़ ने गढ़ा नारा
बायोफ्यूल से विमान उड़ने के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने नारा गढ़ा है-अब उड़गे हवाई जहाज रतनजोत के तेल मा, छत्तीसगढ़ के नाम होही अब देश विदेश मा।

Tuesday, 21 August 2018

अटल जी के नाम पर होगा शहर, विश्वविद्यालय और मेडिकल कॉलेज

अटल जी के नाम पर होगा शहर, विश्वविद्यालय और मेडिकल कॉलेज, कैबिनेट ने लिया निर्णय

naya-raipur-will-become-atal-nagar-chhattisgarh

पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति को चिरस्थायी बनाए रखने के लिए मंगलवार को छत्तीसगढ़ सरकार ने कई बड़े फैसले किए। अब राज्य के हर जिले में अटल जी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। छत्तीसगढ़ को अलग राज्य का दर्जा देने वाले अटल जी के नाम पर स्मार्ट सिटी नया रायपुर का नाम अटल नगर होगा। 

सीएम रमन सिंह ने बताया कि राज्य में दूसरे चरण की विकास यात्रा का नाम अटल विकास यात्रा होगा। इस यात्रा में अटल जी के जीवन से जुड़े चित्र और वीडियो की प्रदर्शनी भी लगेगी। नया रायपुर स्थित दीनदयाल चौक के पास 5 एकड़ जमीन में अटल जी का एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्मारक बनाया जाएगा। रायपुर में बन रहे एक्सप्रेस वे, मड़वा पॉवर प्लांट, रायपुर सेंट्रल पार्क में स्थित ऑक्सीजोन का नाम भी अटल जी के नाम पर होगा। 

बिलासपुर यूनिवर्सिटी का नाम भी बदला  
बिलासपुर विश्वविद्यालय का नाम अब अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय होगा। इसके अलावा मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव का नाम भी अटल मेडिकल कॉलेज होगा। राज्य के स्कूलों के पाठ्यक्रम में अटल जी की कविताएं और जीवनी को भी शामिल किया जाएगा। 

अटल जी के नाम से दिए जाएंगे पुरस्कार 
अटल जी के नाम से पंचायत और नगरीय निकाय में सुशासन पुरस्कार दिया जाएगा। हर वर्ष राज्य में अटल जी की स्मृति में कवि सम्मेलन का आयोजन होगा। इस मौके पर देश के ख्यातिनाम कवि को अटल पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। 

राज्य पुलिस बल में होगी पोखरण बटालियन 
अटल जी ने राजस्थान के पोखरण में परमाणु परीक्षण कर दुनिया को अपनी शक्ति का अहसास दिलाया था। ऐसे में राज्य पुलिस बल में एक पोखरण बटालियन होगी। 

Friday, 17 August 2018

एनएमडीसी बचेली कॉम्पलेक्स को मिला पहला टाटा स्टील माइनिंग अवार्ड

एनएमडीसी बचेली कॉम्पलेक्स को मिला पहला टाटा स्टील माइनिंग अवार्ड

raipur-nmdc-bacheley-complex-got-the-first-tata-steel-mining-award

एमएमडीसी बचेली कॉम्पलेक्स को टाटा स्टील सस्टेनिबिलिटी अवार्ड 2017-18 से सम्मानित किया गया है। पिछले मंगलवार को नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में एनएमडीसी बचेली कॉम्पेक्स के जीएम अरूण कुमार शुक्ला ने केंद्रीय खनिज और पंचायत मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया।

इस पुरस्कार की स्थापना फेडरेशन ऑफ इंडियन मिनरल इंडस्ट्रीज (फिमी) ने इसी साल की है। एनएमडीसी बचेली को पहला पुरस्कार मिला है। ज्ञात हो कि एनएनडीसी बचेली में 1977 से लौह अयस्क का उत्खनन कर रहा है। पिछले 41 वर्षों से कंपनी ने लगातार खनन के साथ सामाजिक दायित्वों का भी निर्वाह किया है।

कंपनी को जैव विविधता, पर्यावरण संरक्षण, सामाजिक दायित्व, स्वास्थ्य और सुरक्षा के क्षेत्र में निरंतर काम करने के लिए यह पुरस्कार दिया गया है। ज्ञात हो कि एनएमडीसी की सभी खदानों को इंडियन ब्यूरो ऑफ माइंस की ओर से पांच सितारा ग्रेड दिया गया है।

इससे पहले फिमी ने 2016 में बचेली कॉम्पलेक्स को गोल्डन जुब्ली अवार्ड से भी सम्मानित किया था। एनएमडीसी (नेशनल मिनरल डवलपमेंट कार्पोरेशन) केंद्र सरकार का उपक्रम है। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में स्थित बैलाडीला के पहाड़ों पर एनएमडीसी की लौह अयस्क की खदानें हैं। बैलाडीला परियोजना में कंपनी बचेली और किरंदुल कॉम्पलेक्स में कंपनी की खदानें हैं।

Monday, 13 August 2018

सहायक श्रम पदाधिकारी, श्रम निरीक्षक एवं श्रम उप निरीक्षक भर्ती परीक्षा (LOI 2018) हेतु प्रवेश पत्र

सहायक श्रम पदाधिकारी, श्रम निरीक्षक एवं श्रम उप निरीक्षक भर्ती परीक्षा (LOI 2018) हेतु प्रवेश पत्र

Admit Card for Assistant Labor Officer, Labor Inspector and Labor Deputy Inspector Recruitment Examination (LOI 2018)

छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल, रायपुर द्वारा श्रमायुक्त कार्यालय, नया रायपुर के अंतर्गत सहायक श्रम पदाधिकारी, श्रम निरीक्षक एवं श्रम उप निरीक्षक के पदों की पूर्ति हेतु दिनांक 19.08.2018, रविवार को लिखित परीक्षा आयोजित की जावेगी ।  
उक्त परीक्षा के प्रवेश पत्र व्यापम के वेबसाइट पर दिनांक को अपलोड कर दिए गए हैं। ऑनलाइन आवेदन करते समय प्राप्त रजिस्ट्रशन आई डी नंबर को एंटर कर अभ्यर्थी इंटरनेट से परीक्षा प्रवेश पत्र  प्राप्त क्र सकेंगे।