Saturday, 22 September 2018

जानिए विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत के बारे में

जानिए विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत के बारे में 

Know the World's Largest Health Plan

विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत 23 सितंबर 2018 शुरू की जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रांची से इसकी शुरुआत करेंगे। इसके तहत गरीब परिवार के हर सदस्य का सरकारी या निजी अस्पताल में सालाना पांच लाख तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा। देश के 10.74 करोड़ गरीब परिवारों के करीब 50 करोड़ सदस्यों को इसका लाभ मिलेगा। 

गरीब का पांच लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त

  • आयुष्मान भारत योजना के तहत हर व्यक्ति को सालाना पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा। प्रधानमंत्री इसके साथ ही चाईबासा और कोडरमा में बनने वाले मेडिकल कॉलेजों का ऑनलाइन शिलान्यास और 10 वेलनेस सेंटर भी शुरू करेंगे।
  • योजना का लाभ पाने वाले परिवारों को प्रधानमंत्री की ओर से एक पत्र भेजा जाएगा, जिसे अस्पताल में दिखाकर मुफ्त इलाज करवाया जा सकेगा।
  • दिल्ली, ओडिशा और तेलंगाना को छोड़कर सभी राज्य इस योजना में शामिल हो गए हैं। देश की लगभग 40% आबादी को इसका लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के तहत सरकारी के साथ देशभर के निजी अस्पतालों को भी सूचीबद्ध किया गया है। इसके लिए आरोग्य मित्र और को-ऑर्डिनेटर को ट्रेनिंग दी जा रही है।
  • मरीज के अस्पताल पहुंचने पर आयुष्मान मित्र ऑनलाइन प्लेटफार्म से उसकी जांच करेगा और अस्पताल को इसके बारे में जानकारी दे देगा। मरीज को वापस घर पहुंचाने का खर्च भी इस योजना में शामिल है।
  • पूर्वोत्तर और पहाड़ी राज्यों में इस योजना पर आने खर्च का 90 फीसदी केंद्र सरकार वहन करेगी, जबकि बाकि राज्यों में 60 फीसदी योगदान केंद्र सरकार का होगा। 

छत्तीसगढ़ के इस डेम में शुरू हुआ वॉटर स्पोर्ट्स

छत्तीसगढ़ के इस डेम में शुरू हुआ वॉटर स्पोर्ट्स, ऐसा है नजारा

water sports in gangrel dam

पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन योजना के तहत ट्रायबल टूरिस्ट सर्किल परियोजना का लोकार्पण शुक्रवार को यहां आयोजित एक भव्य कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री केजे अल्फॉन्स ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के पर्यटन मंत्री दयालदास बघेल ने की। इस मौके पर राज्य सरकार के कई मंत्री और वरिष्ठ नेता उपस्थित रहे। यहां गंगरेल डेम के नजदीक तैयार किए गए बरदीहा लेक व्यू व टूरिस्ट कॉटेज का उन्होंने लोकार्पण किया।

इस समारोह के दौरान लोक नृत्य संगीत से जुड़े कार्यक्रम भी स्थानीय आदिवासी दलों द्वारा प्रस्तुत किए गए। इसके साथ ही वाटर एडवेंचर स्पोर्ट्स की भी यहां शुरुआत हो रही है। मोटरबोट, वाटरजेट जैसे आधुनिक वाटर एडवेंचर से भरपूर स्पोर्ट्स सुविधाओं की शुरूआत आज से यहां हो रही है।

लेक को पर्यटन सुविधाओं के अनुरूप विकसित किया गया है और यहां पर्यटकों के ठहरने के लिए कॉटेज भी तैयार किए गए हैं। महानदी पर बने गंगरेल डेम के आस-पास का नजारा किसी समंदर तट की तरह नजर आ रहा है।

पर्यटन की सुविधाओं के विकास के साथ ही वाटर एडवेंचर से जुड़े ऐसे अत्याधुनिक संसाधन यहां उपलब्ध कराए गए हैं, जो पहले छत्तीसगढ़ में उपलब्ध नहीं थे। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह ट्राइबल टूरिज्म सर्किल पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान बनाएगा। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पर्यटन के विकास की असीम संभावनाएं मौजूद हैं और केंद्र व राज्य सरकार मिलकर इन्हें बढ़ावा देने के लिए लगातार काम कर रही है।

पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ में किया 3840 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण

पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ में किया 3840 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण

pm-narendra-modi-in-janjgir-champa-chhattisgarh

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जांजगीर में सड़क और रेल परियोजनाओं से जुड़े 3840 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। पीएम ने यहां बिलासपुर-पथरापाली 4 लेन सड़क का शिलान्यास, सरगांव-बिलासपुर 4 लेन सड़क का लोकार्पण, बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी लाइन का शिलान्यास किया और हितग्राहियों को मोबाइल, रसोई गैस, पट्टा और ट्रैक्टर वितरण भी किया। पीएम के साथ केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जांजगीर पहुंचने पर दोनों नेताओं का स्वागत किया।
इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की संवेदनशीलता की वजह से छत्तीसगढ़ में सड़कों और रेल सुविधाओं का जाल बिछ रहा है। इन नई परियोजनाओं के शुरू होने से यहां और भी तेजी के साथ विकास हो सकेगा। किसानों को समर्थन मूल्य में 200 रुपयों की वृद्धि की घोषणा की गई है जो एक ऐतिहासिक निर्णय है। यहां लगातार किसानों की स्थिति में सुधार हो रहा है और खुशहाली आ रही है। सरकार किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए कृत संकल्पित है।
2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करने का लक्ष्य पीएम मोदी ने तय किया है और इस लक्ष्य पर सरकार पूरे मनोयोग के साथ काम कर रही है। स्थानीय सांसद कमला देवी पावले ने कहा कि पीएम मोदी ने कांसा कोशा की नगरी जांजगीर में कदम रखा है यह यहां के लोगों के लिए सौभाग्य की बात है। यह दिन जाजन्यदेव की नगरी जांजगीर के इतिहास में एक ऐतिहासिक दिन के रूप में दर्ज हो चुका है। अब जांजगीर की पहचान एक पावर हब के रूप में भी हो रही है और इन विकास कार्यों के साथ जांजगीर क्षेत्र आने वाले समय में पूरे देश में अपनी पहचान कायम करेगा।

30 साल से नेशनल चैंपियन है लड़कियों की यह टीम, अब बनेगी फिल्म

30 साल से नेशनल चैंपियन है लड़कियों की यह टीम, अब बनेगी फिल्म

national-champion-in-basketball-since-30-years-now-will-make-film-by-bollywood


भिलाई सिर्फ पिघलता लोहा ही नहीं उगलता, प्रतिभाओं को भी जन्म देता है। भिलाई की लड़कियों की बास्केटबॉल टीम पिछले 30 साल से नेशनल चैंपियन है। इस टीम के आगे देश की कोई भी दूसरी टीम टिक ही नहीं पाती। इन खिलाड़ियों की प्रतिभा का अब बॉलीवुड भी कायल हो गया है। बॉलीवुड अभिनेत्री लारा दत्ता इस टीम की कहानी पर एक फिल्म बनाने जा रही हैं, जिसका निर्मांण इस साल नवंबर से शुरू होगा। यह फिल्म रेलवे की इस टीम के 30 साल से चले आ रहे जीत के सफर और कोच के संघर्ष की कहानी आधारित होगी। फिल्म में दिवंगत अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल की भूमिका एक्टर इरफान खान निभाएंगे।

कोच के संघर्ष की कहानी
बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल के परिजनों से मिलने फिल्म अभिनेत्री लारा दत्ता सितंबर के पहले पखवाड़े में भिलाई आई थी। लारा दत्ता ने कहा कि यह फिल्म 2014 के नेशनल बास्केटबॉल चैम्पियनशिप पर फोकस है। इसमें लगातार 30 साल से विजेता भारतीय रेलवे की टीम को छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य की बेटियों ने धूल चटा दिया था। साथ ही फिल्म में अंतरराष्ट्रीय बास्केटबॉल प्रशिक्षक राजेश पटेल के जीवन पर भी फोकस किया जाएगा। वे इंदौर में जन्म लेने के बाद कैसे भिलाई आए, भिलाई स्टील प्लांट में उनकी नौकरी और बास्केटबॉल में प्रशिक्षक के तौर पर उनका जीवन, छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य की बेटियों का सौ से ज्यादा राष्ट्रीय और अंतररष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीतना।
इन सभी का भी उल्लेख होगा। एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले राजेश ने अपने संघर्ष और खेल प्रतिभा के दम पर एक अंतर्राष्ट्रीय कोच के रूप में ख्याती हासिल की थी। वे टीम की खिलाड़ियों को अपनी बेटियों की तरह प्यार देते थे और उन्हें अपने अपने परिवार का हिस्सा समझते हुए अपने घर पर ही रखते थे। इनमें से कई लड़कियां राज्य के अलग-अलग हिस्से के आदिवासी और गरीब परिवारों से आईं और आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपना नाम कमाया है। कई लड़कियां रेलवे में अच्छे पदों पर जॉब भी कर रही हैं।

Tuesday, 11 September 2018

छत्तीसगढ़ के खाते में नया कीर्तिमान, एक साथ मिले 15 राष्ट्रीय पुरस्कार

छत्तीसगढ़ के खाते में नया कीर्तिमान, एक साथ मिले 15 राष्ट्रीय पुरस्कार

New record in Chhattisgarh account, 15 national awards received

छत्तीसगढ़ ने फिर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। राज्य को आज विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के लिए 15 अलग-अलग पुरस्कार मिले हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने नई दिल्ली में इन 15 राष्ट्रीय पुरस्कारों को मिलने पर प्रसन्नता जताई की है। उन्होंने कहा कि यह राज्य के लिए एक गौरवशाली और नया कीर्तिमान है। डॉ. सिंह ने कहा कि गांव, गरीब और किसानों की बेहतरी से जुड़ी इन केंद्रीय योजनाओं में राज्य ने शानदार प्रदर्शन किया है। डॉ. सिंह ने इसके लिए प्रदेशवासियों सहित राज्य के पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री अजय चन्द्राकर और विभाग से सबंधित इन योजनाओं से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है। 
बता दें कि छत्तीसगढ़ को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले रूर्बन मिशन, प्रधानमंत्री (ग्रामीण) आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और मनरेगा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर इन राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया। केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कारों का वितरण किया। केंद्रीय मंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारियों ने राज्य के लिए इन पुरस्कारों को ग्रहण किया।

इस मौके पर तोमर ने इस बात पर खुशी जताई कि छत्तीसगढ़ आज देश में एक साथ सर्वाधिक 15 राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित होने वाला राज्य बना। इस अवसर पर केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामकृपाल यादव भी उपस्थित थे। समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री तोमर ने छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव आरपी मंडल, सचिव पीसी मिश्रा और संचालक पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान एमके त्यागी को ये पुरस्कार सौंपे। तोमर ने केन्द्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की प्रशंसा की और इन राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह तथा पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर सहित विभाग के सभी अधिकारियों और मैदानी अमले को बधाई दी।

पुरस्कार वितरण समारोह में छत्तीसगढ़ एनआरयूएम के स्टेट डायरेक्टर नीलेश क्षीरसागर, राज्य ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राकेश चतुर्वेदी, संचालक पंचायत जितेन्द्र शुक्ला, संचालक प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) अमृत विकास टोप्नो, जिला पंचायत रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी दीपक सोनी, जिला पंचायत जशपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा, कोण्डागांव और रायगढ़ जिला पंचायतों के सीईओ संजय कन्नौजे और चंदन त्रिपाठी सहित अन्य अनेक अधिकारी भी मौजूद थे।  

छत्तीसगढ़ पहुंचे केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, दी ये सौगातें

छत्तीसगढ़ पहुंचे केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, दी ये सौगातें

raipur-gadkari-the-union-minister-arrived-in-chhattisgarh

केन्द्रीय सड़क, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी सोमवार को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आए थे. इस दौरान उन्होंने कई सड़क परियोजनाओं के साथ ही फ्लाई ओवर की सौगात प्रदेश को दी है.

केन्द्रीय सड़क, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी सोमवार को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आए थे. इस दौरान उन्होंने कई सड़क परियोजनाओं के साथ ही फ्लाई ओवर की सौगात प्रदेश को दी है. इसके साथ ही आने वाले समय में 40 हजार करोड़ रुपए से अधिक की सड़क परियोजनाएं छत्तीसगढ़ के लिए लाने का वादा किया. भिलाई के चरौदा में विकास यात्रा के दूसरे चरण के दौरान देश के सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी पहुंचे थे.

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने रायपुर, भिलाई सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों में 4 हजार 239 करोड़ रुपए के सड़क निर्माण और फ्लाई ओवर का शिलान्यास और लोकार्पण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के साथ ही देश में सड़कों का जाल बिछाने के लिए नितिन गडकरी को धन्यवाद दिया. सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को अपने कार्यकाल में 35 हजार करोड़ रुपयों की सड़कों की सौगात दी है. जल्द ही 40 हजार करोड़ रुपए से अधिक के सड़कों और फ्लाई ओवर का जाल बिछा देने की बात कही.

नितिन गडकरी ने अपने विभाग में रुपयों की कोई कमी नहीं होने का दावा किया. साथ ही छत्तीसगढ़ के लिए मुख्यमंत्री ने जितनी भी मांगें रखी उनको पूरा करते हुए मजाकिया लहजे में पूछ लिया कुछ और भी सड़कों का प्रस्ताव हो ते बताएं. सड़कों की बात बस नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ में उगाए जाने वाले जेट्रोफा से जल्द ही हवाई जहाज भी उड़ाने और प्रदेश के किसानों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की बात नितिन गडकरी ने कही.

Monday, 3 September 2018

छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में उप निरीक्षक भर्ती 2018

छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में उप निरीक्षक भर्ती 2018


Sub Inspector Recruitment 2018 in Chhattisgarh Police Department

छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग में सूबेदार उप निरीक्षक संवर्ग तथा पलाटून कमांडर के पदों की पूर्ति हेतु राज्य के स्थानीय निवासी पुरुष महिला उम्मीदवारों से छत्तीसगढ़ पुलिस की वेबसाइट http://www.cgpolice.gov.in पर दिनांक 24 मार्च 2018 से ऑनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाते हैं.
  • ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने की प्रारंभिक तिथि : 24/08/2018
  • ऑफलाइन आवेदन पत्र भरने की अंतिम तिथि : 16/09/2018
  • परीक्षा शुल्क : 
    • सामान्य वर्ग/ अन्य पिछड़ा वर्ग : 400
    • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति : 200


रिक्त पदों की संख्या तथा उनका वेतनमान - 
चयन हेतु रिक्त पदों की संख्या तथा उनका वेतनमान नीचे दर्शाए अनुसार है अंतिम चयन के समय वास्तविक रिक्त पदों की स्थिति को देखते हुए इस संख्या की कमी या वृद्धि की जा सकती है.

Sub Inspector Recruitment 2018 in Chhattisgarh Police Department

शैक्षणिक, आयु, शारीरिक एवं चयन प्रक्रिया हेतु निम्लिखित लिंक पे क्लिक करें। 

http://www.cgpolice.gov.in/public/uploads/1535022763.pdf